Showing posts with label Poems. Show all posts
Showing posts with label Poems. Show all posts
मेरा चाँद निकल आया है,ज़मीं पे रोशनी हो गई

मेरा चाँद निकल आया है,ज़मीं पे रोशनी हो गई

.मेरा चाँद निकल आया है,ज़मीं पे रोशनी हो गई उस आसमाँ के चाँद की जरूरत नहीं,इक्तिला करो गर फिर भी है कुछ खुशफहमी उस चाँद को तो मेरे ...
Read More

हाथ खाली हैं बिटिया सयानी हो गयी

राजेश त्रिपाठी मुश्किलें हैं और जाने कितने अजाब हैं। जिंदगी की बस इतनी कहानी हो गयी।। अधूरे रह गये जाने कितने ख्वाब  हैं। मुश...
Read More

ऐसा हिंदोस्तान चाहिए

             -राजेश त्रिपाठी राम   को  चोट  लगे  तो  रहीम  को  आंसू   आये  । रहीम   को   रंज   हो   तो   राम  सो   न   पाये ।। गंगा-...
Read More

कलम

राजेश त्रिपाठी कलम वो  है  लिख सकती है तकदीर भी। कलम  वो  है  बन सकती है शमशीर भी।। कलम  वो है जिसमें लहराता है सुख-सागर। कलम ...
Read More

दिल का ताज-

नाराजी मे भी कोई राज है झूठा   दिल का ताज है जिसपे कहाते थे नाज है शरमिंदा करता हमको आज है कहते थे जो ख्वाबो...
Read More

हाल-ए-दिल उनको सुनाना न आया

हाल-ए-दिल उनको सुनाना न आया  मोहब्बत निगाहों से बताना न आया  जब खुद को देखा  मेरी  निगाहों से  फिर खुद को  ही  छिपाना न आया ...
Read More
Harivansh Rai Bachchan Poems in Hindi | हरिवशं राय बच्चन की कविताएँ

Harivansh Rai Bachchan Poems in Hindi | हरिवशं राय बच्चन की कविताएँ

लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती, कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती। नन्हीं चींटी जब दाना लेकर चलती है, चढ़ती दीवारों पर, सौ बार फि...
Read More

होली की हर्षित बेला पर,

💝 *होली की हार्दिक* *शुभकामनाएं*🌹🌹   होली की हर्षित बेला पर, खुशियां     मिले     अपार | यश,कीर्ति, सम्मान     मिले,  और      बढे        ...
Read More