हाथ खाली हैं बिटिया सयानी हो गयी

राजेश त्रिपाठी मुश्किलें हैं और जाने कितने अजाब हैं। जिंदगी की बस इतनी कहानी हो गयी।। अधूरे रह गये जाने कितने ख्वाब  हैं। मुश...
Read More

ऐसा हिंदोस्तान चाहिए

             -राजेश त्रिपाठी राम   को  चोट  लगे  तो  रहीम  को  आंसू   आये  । रहीम   को   रंज   हो   तो   राम  सो   न   पाये ।। गंगा-...
Read More

कलम

राजेश त्रिपाठी कलम वो  है  लिख सकती है तकदीर भी। कलम  वो  है  बन सकती है शमशीर भी।। कलम  वो है जिसमें लहराता है सुख-सागर। कलम ...
Read More

जल संरक्षण पर निबन्ध 4 (800 शब्द)

प्रस्तावना ऑक्सीजन, जल एवं भोजन, तीन ऐसे तत्व हैं जिनके बिना इस धरती पर हम जीवित नहीं रह सकते। लेकिन इन सबमें ऑक्सीजन सबसे ज्यादा जर...
Read More