FOR AUTHORS/POETS

We accept following form of contents are:
शोध संचयन के स्तम्भ (Column)-
शोध आलेख (Peer Reviewed Research Articles)
शोध सम्भावना (Articles Regarding Research Insight for New Researchers, New Trends and Innovations in the Field of Humanities and Social Science Research)
शोध विधा (Articles Regarding Research Methodology and their Different Dimensions)
शोध परियोजना (Reports of Research Projects)
शोध समाचार एवं गतिविधियाँ (Information about Seminar/ Workshop/ Symposia/ Conference and their Reporting, Research News and Notifications)
शोध सारांश (Research Abstracts)
शोध विमर्श (Discourse on New Trends, Pros & Cons of Humanities and Social Science Research)
शोध समीक्षा (Review of Awarded Thesis)
शोध साधना (Research Experience of the earlier Researchers)
शोध प्रकाशन (Review of Research Publications)
Publication is ultimate and necessary step of any research. Research is worthless until it not put forward in public Domain. Research is like a chain reaction. Each and every research has some space and this space generate viewpoint for other new research. So, in social interest, research work should be published.
प्रकाशन किसी भी शोध प्रक्रिया का अंतिम एवं अनिवार्य चरण है. शोध निरर्थक है यदि वह लोगों के संज्ञान में नहीं है. यह एक श्रृंखला क्रिया की तरह है. प्रत्येक अनुसन्धान में कुछ ऐसे अवकाश होते हैं जो एक अन्य स्वतंत्र अनुसन्धान की मांग करते हैं अथवा उसमें ऐसे विचार दृष्टि होते है जो अन्य शोध/शोधों को प्रेरित करतें हैं. अतएव व्यापक सामाजिक हित में शोध का प्रकाशन अनिवार्य है.
Publish your Research Paper:
Original and unpublished Research papers are invited to publish in Shodh Sanchayan, An International Bi-Lingual & Biannual Research Journal
मौलिक एवं अप्रकाशित शोध पत्र शोध संचयन में प्रकाशन हेतु आमंत्रित हैं.

Publish your research Abstract:
अपने सामाजिक मानविकी अनुसन्धान के शोध सार का ई-प्रकाशन करें. http://www.shodh.net आपको अपने अनुसंधानों के शोध संक्षिप्तिका के ई-प्रकाशन का अवसर प्रदान करता है.
E-publish your research abstract.
Publish your Research Minor/Major Research Project Report:
आपके वर्षों का अथक परिश्रम एवं प्रतिभाशाली प्रदर्शन निरर्थक है यदि वह अल्मारिओं के कोने में धूल खाता रहे. आप अपने शोध परियाजना के निष्कर्षों का प्रकाशन अनिवार्यरूप से करें. परियोजना प्रतिवेदन में निम्न बिंदुओं को सम्मिलित करें-
  • आपका शोध कार्य ज्ञान के आयाम में क्या नया जोड़ता है?
  • शोध की दृष्टि से आपके कार्य की महत्ता?
  • शोध कार्य में आने वाली कठिनाइयाँ / सीमाएं
  • आपका शोध कार्य में क्या शेष हैं जो नए अनुसन्धान का विषय बन सकता है?
आपके वर्षों का अथक परिश्रम एवं प्रतिभाशाली प्रदर्शन निरर्थक है यदि वह अल्मारिओं के कोने में धूल खाता रहे. आप अपने शोध परियाजना के निष्कर्षों का प्रकाशन अनिवार्यरूप से करें. परियोजना प्रतिवेदन में निम्न बिंदुओं को सम्मिलित करें-
  • आपका शोध कार्य ज्ञान के आयाम में क्या नया जोड़ता है?
  • शोध की दृष्टि से आपके कार्य की महत्ता?
  • शोध कार्य में आने वाली कठिनाइयाँ / सीमाएं
  • आपका शोध कार्य में क्या शेष हैं जो नए अनुसन्धान का विषय बन सकता है?
Disclaimer:
शोध संचयन में प्रकाशित शोध आलेखों में व्यक्त विचार, आशय, तथ्य आदि स्वयं लेखक के द्वारा लिखित अथवा संकलित हैं. उससे संपादकीय सहमति अनिवार्य नहीं है. शोध आलेखों की समीक्षा में शोध आलेख लेखन में अपनाई गयी शोध प्रक्रिया, दिए गए तथ्यों/सत्यता, सन्दर्भ आदि के विषय में मान्य समीक्षकों के द्वारा परीक्षण का प्रयास होता है. किन्तु साधनों की सीमा के कारण त्रुटियाँ संभावित हैं. गलत तथ्यों के प्रस्तुतीकरण की समस्त जिम्मेदारी लेखकों की है.