स्वच्छ भारत मिशन पर लेख

  • शिवांशु कौशल

Abstract

पिछले कुछ वर्षों से भारत निरंतर आर्थिक विकास के पथ पर अग्रसर है, लेकिन इसके बावजूद अस्वच्छता एवं सफाई की कमी ऐसे दो कारण हैं जिनकी वजह से इसे भारी आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। हाल ही विश्व बैंक की एक रिपोर्ट में भी यह तथ्य प्रकाश में आया है कि भारत को प्रति वर्ष घरेलू उत्पाद में 6.4% प्रति वर्ष का नुकसान इन दो वजहों से झेलना पड़ता है। हालांकि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत मिशन (एसबीएम) की शुरूआत की है जिसके अंतर्गत, भारत सरकार ने वर्ष 2019 तक 'संपूर्ण स्वच्छता प्राप्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस मिशन का लक्ष्य है कि वर्ष 2019 के अंत में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती तक भारत के हर घर में एक शौचालय होगा।

Published
2018-08-17