विश्व में हिंदी की स्थिति माॅरिशस के विशेष संदर्भ में

  • सुशील कुमार

Abstract

इक्कीसवी सदी में हिंदी आज एक निर्णयात्मक भूमिका का कार्य कर रही है। आज भूमण्डलीकरण के दौर में हिंदी का महत्व बढ़ते ही जा रहा है। यह हमारे लिए गर्व की गात है। देश-विदेशों में हिंदी सबसे मजबूत और समृद्ध साहित्य के रूप में सामने आयी है। बोलने और समझनेवालों की संख्या की दृष्टि से हिंदी विश्व की दूसरी भाषा सबसे बड़ी भाषा है। अंतर्राष्ट्रीय साहित्य के रूप में हिंदी का विकास करने तथा उसे संयुक्त राष्ट्र संघ की एक प्रमुख साहित्य के रूप में मान्यता दिलाने के अपने मूल उद्देश्य को लेकर विश्व हिंदी सचिवालय निरंतर प्रयास कर रहा है।

Published
2020-03-16