कम से कम बोलिए ज्यादा से ज्यादा समझिये

  • अरुण कुमार शर्मा

Abstract

मैं नहीं जनता राजनीती
पर एक बात कहूँ निति की
रखिये याद हरदम
बोलिए बहुत कम
यह बात है उत्तम
निति है सर्वोतम
क्योंकि कम बोलने से
चुपचाप रहने से
बात से विवाद नहीं होता
विवाद से झगड़ा- फसाद नहीं होता
कोई बोलता है ज्यादा बोलने से
Published
2017-05-15