भिखारी को (खाना+पानी) तो देंगे पर एक भी रुपया भीख नही देंगे

मित्रो,

*आज इस बात को अमल में लाने की कसम  खाएं।* 


*भिखारी को (खाना+पानी) तो देंगे पर एक भी रुपया भीख नही देंगे।*

     

दादर स्टेशन पर एक अनोखा आंदोलन देखा गया है "किसी भी प्रकार के भिखारी को भीख न दे" और मुझे ये आंदोलन सही लगता है, हम शपथ ले कि आज से भीख मांगते हुए किसी भी प्रकार के(स्त्री/पुरुष/बुजुर्ग/अपंग/बच्चे) भिखारी को (खाना+पानी) तो देंगे पर एक भी रुपया भीख नही देंगे।

    इससे होगा ये की "अंतरराष्ट्रीय/राष्ट्रीय/ राज्यकीय स्तर पर भिखारियों" की टोली चलाने वाले गुटों की आर्थिक रूप से कमर टूट जाएगी एवं छोटे बच्चों के अपहरण जैसी वारदाते अपने आप बंद हो जाएंगी। गुनाहगारों की दुनिया से इस तरह के दलों का अंत हो सकेगा।

    ये सोच है अगर आप भी सहमत है तो इस अभियान से जुड़े।👍


*Please Forward*🙏

Share on Google Plus

About EduPub

0 comments:

Post a Comment