शिक्षक होने की शक्ति

यह दिलचस्प जानकारी है:


1994

भारतीय राष्ट्रपति श्री शंकर दयाल शर्मा ने आधिकारिक यात्रा पर मस्कट का दौरा किया - जब Air India का विमान ओमान में उतरा तो 3 दिलचस्प घटनाएं हुई -


1. ओमान किंग कभी भी किसी भी देश के गणमान्य व्यक्तियों को receive करने के लिए हवाई अड्डे पर नहीं जाते - कभी नहीं। लेकिन, ओमान का राजा राष्ट्रपति को receive करने के लिए हवाई अड्डे पर आए ।


2. जब फ्लाइट उतरी तो राष्ट्रपति जहाज़ की सीढ़ीयो से नहीं उतरे बल्कि उमान राजा राष्ट्रपति को उनकी सीट से receive करने सीढ़ियां चढ़ कर जहाज़ में गए।


3। जहाज से उतरने के बाद शोफर खड़े थे, एक कार थी। लेकिन ओमान किंग ने चालक को अलग करने के लिए इशारा किया, और उसने स्वयं उस कार को चलाया जिसमे राष्ट्रपति बैठे ।


बाद में जब संवाददाताओं ने राजा से सवाल किया कि उन्होंने इतने सारे प्रोटोकॉल क्यों तोड़ दिए?


तो किंग ने जवाब दिया, "मैं श्री शर्मा को receive करने के लिए हवाई अड्डे पर इसलिए नहीं गया क्योंकि वह भारत के राष्ट्रपति थे। बल्कि मैंने भारत में अध्ययन किया और कई चीजें सीखीं, जब मैं पुणे में पढ़ रहा था, श्री शर्मा मेरे प्रोफेसर थे - यही कारण है कि मैंने यह किया "!


🌹 *यह शिक्षक होने की शक्ति है* 


🙏🙏

Share on Google Plus

About Edupedia Publications Pvt Ltd

0 comments:

Post a Comment