माँ सरस्वती...

माँ सरस्वती...

माँ सरस्वती भगवती 
सुन ले मेरी विनती 
विद्ध्य, बुद्धि और विवेक दे 
सद्गुण, शील, सत्य का ज्ञान दे 
सदाचार से सम्पन्न कर दे 
अंधकार तू दूर कर दे 
मेरा तू उद्धार कर दे 
मेरा बेर पार कर दे 
न हो किसी का आसरा 
हो बस तेरा सहारा 
मई तो किस्मत का मारा 
चलता नहीं कोई चारा 
बन गया हु मैं बेचारा 
माँ अपने बेटे को 
देदे उंगली का सहारा 
तू तो है दया की मूर्ति 
सुन ले माँ तू मेरी विनती 
- शशीकांत निशांत शर्मा 'साहिल'
Share on Google Plus

About Pen2Print Services

0 comments:

Post a Comment