घरवाली की किच-किच न हो तो इन्सान कहाँ से कहाँ पहुँच

1. सन्डे को पति अगर देर तक सोया रहे तो..

बीवी : अब उठ
भी जाओ ! तुम्हारे जैसा
भी कोई है क्या ?
छुट्टी है तो इसका मतलब
यह नहीं कि सोते
ही रहोगे।
😐😐😐😐😐

2. सन्डे को पति अगर जल्दी
उठ जाये तो..

बीवी: पिछले
जन्म में मुर्गे थे क्या ? एक दिन तो चैन से
सोने को मिलता है, उसमें भी
ठीक 5:30 बजे उठ कर
कुकडू-कू करने लगते हो। इतना
जल्दी उठकर क्या पहाड़ तोड़
लाओगे ?
😟😟😟😟😟😟

3. सन्डे को पति अगर घर पे
ही रहे तो..

बीवी: कुछ काम
भी कर लिया करो। हफ्ते भर
बाट देखते है तुम्हारे सन्डे
की, उसे भी तुम
केवल नहाने धोने में ही लगा
देते हो।
🙃🙃🙃🙃🙃

4. सन्डे को पति अगर घर से देर तक
बाहर रहे तो..

बीवी : कहाँ थे
तुम आज पूरा दिन ? आज सन्डे है,
कभी मुँह से भगवान का नाम
भी ले लिया करो।
😇😇😇😇😇

5. सन्डे को पति अगर पूजा करे तो..

बीवी : ये
घन्टी बजाते रहने से कुछ
नहीं होने वाला। अगर ऐसा
होता तो इस दुनिया के रईसों में टाटा या बिल
गेट्स का नाम नहीं होता
बल्कि किसी पुजारी
का नाम होता।
😞😞😞😞😞

6. अगर टाटा या बिल गेट्स जैसा बनने के
लिए पति दिन रात मेहनत करे तो..

बीवी : हर वक़्त
काम, काम काम, तुम्हें अपने ऑफिस के
ही सात फेरे ले लेने चाहिए
थे। हम क्या यहाँ पर बंधुआ मजदूर है
जो सारा दिन काम करें और शाम को तुम्हारा
इंतज़ार करें ?
😟😟😟😟😟😟

7. पति अगर पत्नी को घुमाने
के लिए ले जाए तो..

बीवी : हमारे
बीच वाले जीजा
जी तो
दीदी को हर
महीने घुमाने ले जाते हैं और
वो भी स्विट्ज़रलैंड और
दार्जिलिंग जैसी जगहों पर।
तुम्हारी तरह "हरिद्वार"
नहाने नहीं जाते।
🙃🙃🙃🙃🙃🙃

8. पति अगर अपनी
ऐसी तैसी करा कर
नैनीताल, मसूरी,
गोवा, माउन्ट आबू, ऊटी
जैसी जगहों पर घुमाने ले
भी जाए तो..

बीवी : अपना घर
ही सबसे अच्छा, बेकार
ही पैसे लुटाते फिरते है। इधर
उधर बंजारों की तरह घूमते
फिरो। क्या रखा है घूमने में ? इतने पैसे से
अगर घर पर ही रहते तो पूरे
2 साल के लिए कपड़े खरीद
सकते थे।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏

घरवाली की किच-किच न हो तो इन्सान कहाँ से कहाँ पहुँच
जाता है...😉

😜😜😜😜😜😜

Share on Google Plus

About Unknown

0 comments:

Post a Comment